पाकिस्तान: इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज, संसद 25 अप्रैल तक स्थगित

इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया है। संसद को 25 अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर आज संसद में मतदान होना था   । लेकिन इमरान ने संसद को भंग करने का प्रस्ताव रखा था। इसी के साथ पाकिस्तान में फिर से चुनाव होने के संकेत मिल रहे हैं.

इमरान ने संसद भंग करने का प्रस्ताव रखा

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के  नेतृत्व वाली सरकार का भविष्य तय करने के लिए नेशनल असेंबली का सत्र सुबह 11:30 बजे शुरू हुआ . इस स्थिति के बीच, इमरान खान ने कहा कि उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव उन्हें हटाने के लिए एक “अंतरराष्ट्रीय साजिश” का हिस्सा था।

इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान ने उन्हें ‘मिनी ट्रंप’ कहा

इससे पहले, इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान ने उन्हें “मिनी ट्रम्प” कहा और ट्विटर से उनके भड़काऊ ट्वीट्स के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया। बता दें कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का ट्विटर अकाउंट जनवरी 2021 में हिंसा भड़काने के बाद स्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया गया था। यह आरोप किबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री महमूद खान को बधाई देने वाले एक ट्वीट के बाद आया है।

इमरान खान ने कहा कि खैबर पख्तूनख्वा में स्थानीय चुनावों में उनकी पार्टी की जीत सभी देशद्रोहियों के लिए एक प्रारंभिक चेतावनी थी। बता दें कि इस ट्वीट पर इस बात पर आपत्ति जताई गई थी कि इमरान खान विपक्ष को देशद्रोही और अमेरिकी एजेंट बता रहे थे। इमरान खान ने शनिवार को पाकिस्तानी युवाओं से अविश्वास प्रस्ताव के पीछे की विदेशी साजिश का शांतिपूर्ण विरोध करने का आग्रह किया। एक लाइव सेशन में बोलते हुए, इमरान खान ने युवाओं से कहा कि वे पाकिस्तानी सेना की आलोचना न करें।

पाकिस्तानी सेना ने आरोपों से किया इनकार

इससे पहले, इमरान खान ने कहा था कि पाकिस्तानी सेना   के पास उनके खिलाफ तीन विकल्प हैं: इस्तीफा दें, जल्दी चुनाव कराएं या अविश्वास प्रस्ताव का सामना करें। हालांकि बाद में सेना ने आरोपों से इनकार किया। सेना ने कहा कि उसने कोई तीन विकल्प नहीं दिए हैं, लेकिन पीएम खुद देश में चल रहे राजनीतिक संकट   पर चर्चा के लिए एक बैठक बुलाना चाहते थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here