IPL Auction 2022: चेन्नई ने धोनी से भी ज्यादा निवेश क्यों किया?

आईपीएल नीलामी 2022 केपहले दिन ईशान किशन ने रजत पदक गंवाया। जबकि दीपक चाहरकृपा और पैसों की बरसात हुई। इसके अलावा कई और खिलाड़ियों की किस्मत भी खुल गई। आईपीएल 2022 की नीलामी के पहले दिन ईशान किशन को मुंबई इंडियंस ने 15.25 करोड़ रुपये में और दीपक चाहर को चेन्नई सुपर किंग्स ने 14 करोड़ रुपये में खरीदा। चेहरे पर ऐसी बोली लगाने के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने सवाल खड़े किए हैं।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘कृपया कोई इसे समझा सकता है: चेन्नई ने चाहर को 14 करोड़ रुपये में खरीदा और धोनी को 12 करोड़ रुपये में लौटाया, जबकि मुंबई ने किशन को 15.25 करोड़ रुपये में खरीदा और मैंने पोलार्ड को 6 करोड़ रुपये में रखा।

सीएसके ने धोनी के चेहरे पर क्यों बरसाए ज्यादा पैसे?

2018 में, चेन्नई ने 80 लाख रुपये में एक सीम बॉलिंग ऑलराउंडर खरीदा। चार वर्षों में लगभग 18 गुना वृद्धि यह साबित करती है कि मताधिकार एक विशिष्ट लक्ष्य के लिए कुछ हद तक जा सकता है। दरअसल चेहरे को पावरप्ले एक्सपर्ट के तौर पर जाना जाता है। यह सीएसके सेट-अप का हिस्सा रहा है। वह गेंद को स्विंग कराते हैं, जो आधुनिक क्रिकेट में कई भारतीय तेज गेंदबाज नहीं करते हैं। वह निचले क्रम में भी अच्छी बल्लेबाजी करते हैं। सीएसके के लिए उनका गेंदबाजी आक्रमण स्विंग गेंदबाज पर आधारित है।

इस लिहाज से चेन्नई को एक ऐसे चेहरे की जरूरत थी जिसे टीम प्रबंधन जानता हो और जिस पर भरोसा करता हो। इसलिए फ्रेंचाइजी ने चाय पर इतना पैसा खर्च करना जरूरी समझा। भले ही चाहर की कमाई कैप्टन से ज्यादा हो।

ईशान आईपीएल इतिहास के दूसरे सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं

मुंबई इंडियंस ने ईशान किशन को 15.25 करोड़ रुपये में खरीदा। वह युवराज सिंह के बाद आईपीएल के इतिहास में दूसरे सबसे महंगे भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। ईशान का बेस प्राइस 2 करोड़ रुपये था। 2011 वर्ल्ड कप में भारत की जीत के हीरो रहे युवराज को रिकॉर्ड एक करोड़ रुपये दिए गए। 16 करोड़ रुपये में खरीदा। एक साल बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने इसे 14 करोड़ रुपये में खरीदा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here